World Population Day 2021: क्यों मनाया जाता है विश्व जनसंख्या दिवस?

World Population Day 2021

हर साल 11 July को वर्ल्ड पॉपुलेशन डे(World Population Day 2021)  मनाया जाता है। किसी राष्ट्र की जनसंख्या के आकार का उसके विकास और संचालन पर बड़ा प्रभाव पड़ता है। देश की जनसंख्या जितनी अधिक होती है, उसका विकास उतनी ही तेजी से करना कठिन होता है। अशिक्षा, बेरोजगारी, भुखमरी और गरीबी अनियंत्रित होती आबादी का ही रिजल्ट है..!

 

World Population Day 2021: अगर पूरी दुनिया की जनसंख्या (world population 2021) की बात करें तो पूरी दुनिया की जनसंख्या 774 करोड़ 87 लाख है. अगर भारत की जनसंख्या (Population of India 2021) की बात करें तो 139 करोड़ 39 लाख के आसपास जनसंख्या हो चुकी है.!

 

View this post on Instagram

 

A post shared by ARnewshindi (@arnewshindi)

बढ़ते पॉपुलेशन के समस्या से निपटने के लिए परिवार नियोजन समाधान मौजूद है लेकिन लोगों में जागरूकता की कमी के कारण इस समस्या से छुटकारा नहीं मिल पा रहा और यह लगातार बढ़ती ही जा रही है बेवजह और लगातार बढ़ती पापुलेशन ब्रेक लगाने के लिए दुनिया भर में 11 July को वर्ल्ड पॉपुलेशन डे (World Population Day 2021)  मनाया जाता है..!

क्यों मनाया जाता है? विश्व जनसंख्या दिवस 2021

(Why is it celebrated? World Population Day 2021)

आइए हम जानते हैं कि क्यों मनाया जाता है वर्ल्ड पापुलेशन डे और कैसे बढ़ती जनसंख्या को रोज रोका जा सकता है आपको बता दें कि यूनाइटेड स्टेट 11 जुलाई 1989 को आम सभा में वर्ल्ड पापुलेशन डे मनाने का फैसला लिया दरअसल 11 जुलाई को 1987 वर्ल्ड पॉपुलेशन डे का आंकड़ा 5 अरब के पार पहुंच चुका था जब दुनिया भर के लोग बढ़ती आबादी के लिए जागरूक करने के लिए इसे विश्व स्तर पर बनाने का फैसला लिया गया..!

 

हर साल विश्व जनसंख्या दिवस की विशेष थीम के साथ मनाया जाता है इस साल की थीम अधिकार और विकल्प पर है चाहे बेबी भ्रूण या प्रजनन दर में बदलाव का समाधान सभी लोगों के प्रजनन स्वास्थ्य और अधिकारों को प्राथमिकता देना है वर्ल्ड पॉपुलेशन डे पर पूरी दुनिया में पापुलेशन कंट्रोल करने के लिए तरह-तरह के नियमों से लोगों को जागरूक किया जाता है..!

इसके अलावा परिवार नियोजन लोगों से बात की जाती है इस दिन जगह-जगह जनसंख्या नियंत्रण कार्यक्रम के जरिए लोगों को जागरूक करने के लिए कोशिश करी जाती है. Gender Equality मां और बच्चे का स्वास्थ्य Gender एजुकेशन गर्भनिरोधक दवाओं के इस्तेमाल से लेकर यौन संबंध जेसी सभी गंभीर विषयों पर लोगों से खुलकर चर्चा की जाती है..!

 

Previous articleFull HD Movies Download 1080p| Bhuj: The Pride of India
Next articleRahul-Disha Wedding: 16 जुलाई को करने जा रहे हैं, शादी!
My name is Ashok Saini I am a blogger / news reporter I am working on a news website and I work to spread the news to the people