The Kashmir Files देखकर जब सिनेमाहाल्स में चीखे कश्मीरी पंडित तो लोगों का कलेजा फट गया।

The Kashmir Files देखकर जब सिनेमाहाल्स में चीखे कश्मीरी पंडित

The Kashmir Files: देख रहे हैं चीखते चिल्लाते लोगों को जो 32 सालों से एक खामोश थे इनका दर्द सुनने इतने सालों से कोई नहीं आया अब इनकी कहानियों को जब कोई पर्दे पर लेकर आया है तो इन के दिलों में न्याय की उम्मीद जाग गई है इन फूट-फूटकर रोते हुए लोगों के दिलों में इस बात की तसल्ली हुई है कि किसी ने इनके दर्द को पूरे हिंदुस्तान को बताने की कोशिश की है।

The Kashmir Files देखकर कैसे चीखे कश्मीरी हिंदू

पूरे देश में इस वक्त ऐसी ही तस्वीरें सामने आ रही है दिल्ली, मुंबई, नोएडा, बेंगलुरु लखनऊ, पुणे, केरल, कन्याकुमारी, बंगाल और असम सब जगह जब लोग इस फिल्म ‘The Kashmir Files’ को देखकर निकल रहे हैं तो उनकी आंखों में या तो आंसू है या फिर इस बात का गुस्सा कश्मीर की सच्चाई को बताने में बॉलीवुड को 32 साल का लंबा वक्त क्यों लग गया शायद आपको यह ना पता हो कि कश्मीर से खदेड़ गए आज भी हजारों हिंदू कैंपों में अपनी जिंदगी काट रहे हैं।

 

सोचिए 32 साल से वह इन कैंपों में इसी उम्मीद के साथ रह रहे हैं कि 1 दिन वह अपने घर कश्मीर लौट पाएंगे घर लौटने की उम्मीद में ना जाने कितने तो दम तोड़ चुके हैं इस सच्ची कहानी को दिखाने का मतलब सिर्फ और सिर्फ एक ही है की लोगे जान पाए कि कश्मीर में हिंदुओं के साथ क्या हुआ था कैसे कश्मीरी पंडितों को मारा गया कैसे उनकी मां बेटियों के साथ बलात्कार किया गया है।

उनके घरों को जला दिया गया यह कोई एक दो कश्मीरी हिंदू की कहानी नहीं है उन पूरे 4.5 लाख हिंदुओं का दर्द है जो कश्मीर में समेट कर रख दिया गया है कश्मीरी हिंदुओं को उम्मीद है कि जब उनकी कहानी आम हिंदुस्तानियों पर पहुंचेगी तो वह उनके लिए आवाज उठाएंगे और इसी आवाज की बदौलत 32 साल बाद अपने घर कश्मीर वापस लौट पाएंगे।