राजस्थान सरकार: ऑक्सीजन-बेड उपलब्ध नहीं हैं, लेकिन राजस्थान सरकार मुफ्त अंतिम

0
राजस्थान सरकार: ऑक्सीजन-बेड उपलब्ध नहीं हैं, लेकिन राजस्थान

ऑक्सीजन-बेड उपलब्ध नहीं हैं, लेकिन राजस्थान सरकार मुफ्त अंतिम संस्कार प्रदान करेगी !

राजस्थान सरकार ने पूरे राज्य में एक नया आदेश जारी किया है कि राज्य सरकार संक्रमित कोरोना के अंतिम संस्कार का खर्च वहन करेगी। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सभी कलेक्टरों, नगरीय निकायों और अस्पतालों को निर्देश दे दिए गए हैं।

राज्य सरकार कोरोना युग में रोगियों को ऑक्सीजन, बेड या दवाइयां उपलब्ध नहीं करा पाई है, लेकिन शवों के दाह संस्कार की अलग व्यवस्था की गई है। राजस्थान सरकार ने पूरे राज्य में एक नया आदेश जारी किया है कि राज्य सरकार संक्रमित कोरोना के अंतिम संस्कार का खर्च वहन करेगी। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या सरकार जो फंड अंतिम संस्कार के लिए जारी कर रही है उस में कोरोना मरीजों की जान बचाई जा सकती है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि अंतिम संस्कार का पूरा खर्च सरकार उठाएगी। साथ ही शव को अस्पताल से श्मशान तक ले जाने के लिए मुफ्त एम्बुलेंस या वाहन उपलब्ध कराया जाएगा। CM गहलोत ने भी इस प्रणाली को तत्काल प्रभाव से लागू करने का निर्देश दिया है।

निःशुल्क वाहन उपलब्ध कराने के निर्देश दिए

आपको बता दें कि दरअसल यह सिस्टम जोधपुर उत्तर नगर निगम द्वारा लागू किया था इसे देखते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी राज्य के सभी कलेक्टरों और नगरीय निकायों और अस्पतालों को निर्देशजारी कर दिए गए हैं ! अस्पताल या घर से श्मशान, कब्रिस्तान तक शवों का सम्मानजनक परिवहन सुनिश्चित किया जाना चाहिए। यदि अस्पताल से शव लेने के लिए एंबुलेंस उपलब्ध नहीं हैं, तो ऐसी स्थिति में जिला परिवहन अधिकारी को वाहनों को अधिग्रहित कर वाहन की व्यवस्था करने में मदद करनी चाहिए। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि पूरे राज्य में इस प्रणाली के बारे में प्रचार प्रसार करने के लिए नगरीय निकायों के नियंत्रण कक्षों को जिम्मेदारी सौंपी गई है।

कंट्रोल कक्ष में एम्बुलेंस उपलब्ध कराई जाएगी

कंट्रोल कक्ष को इसके लिए एक टोल-फ्री नंबर जारी करने के लिए भी कहा गया है। शव को मुफ्त में ले जाने के लिए वाहनों या एम्बुलेंस की व्यवस्था शहरी निकाय के नियंत्रण कक्ष के अधीन होगी। जब कंट्रोल कक्ष में एम्बुलेंस के लिए कॉल किया जाता है, तो इसकी पूरी जानकारी दर्ज की जाएगी। बता दें कि राजस्थान में कोरोना की गति तेज है। यहां शनिवार को 70 से अधिक लोगों की मौत हो गई। जबकि लगभग 6 हजार से अधिक नए कोरोना मरीज ​सामने आए थे। सरकार द्वारा दावा किया जा रहा है कि इसे जल्द ही नियंत्रित कर लिया जाएगा।

Previous articleMalaika Arora हॉट अंदाज में कोरोना के बीच अपने कुत्ते को बाहर
Next articleSeetiMaa: सलमान खान की फिल्म ‘राधे: योर मोस्ट वांटेड भाई’ का
My name is Ashok Saini I am a blogger / news reporter I am working on a news website and I work to spread the news to the people

Leave a Reply