Haryana News: सुल्तान की हार्ट अटैक से मौत 21 करोड़ की थी कीमत !

Haryana News: सुल्तान की हार्ट अटैक से मौत 21 करोड़ की थी कीमत !

Haryana News: सुल्तान की हार्ट अटैक से मौत 21 करोड़ की थी कीमत हर साल मालिक को कमा कर देता था करोड़ों रुपए !

 

चंडीगढ़, 27 सितंबर: हरियाणा के कैथल से पशु प्रेमियों के लिए दुखद खबर सामने आई है। हरियाणा समेत पूरे देश में मशहूर सुल्तान का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। सुल्तान देश सहित प्रदेश के पशु मेलों की शान हुआ करता था। राजस्थान के पुष्कर में आयोजित पशु मेले में सुल्तान झोटे (सुल्तान की हार्ट अटैक से मौत) की बोली करोड़ों में थी, लेकिन उसके मालिक ने उसे न ले जाने का फैसला किया, लेकिन अब सुल्तान अपने मालिक से हमेशा के लिए दूर हो गया है। सुल्तान की मृत्यु के बाद उसके मालिक नरेश को बहुत दुख हुआ।

 

21 करोड़ की लग चुकी थी बोली।

कैथल के बुडाखेड़ा गांव के नरेश बेनीवाल के घर में मातम छा गया जब 14 वर्षीय सुल्तान झोटे की अचानक दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई. सुल्तान के अफ्रीकी किसान ने 21 करोड़ रुपये की बोली लगाई थी, लेकिन उसके मालिक राजा ने उसे नहीं बेचा। राजा सुल्तान का बहुत ख्याल रखता था और उसे अपने परिवार का हिस्सा मानता था। रिपोर्ट्स के मुताबिक सुल्तान सालाना करीब एक करोड़ रुपए कमाते थे। लेकिन आज उनके जाने के बाद उनके मालिक नरेश ने कहा कि हम जीवन भर उनका कर्ज नहीं चुका पाएंगे।

Haryana News: सुल्तान की हार्ट अटैक से मौत
Haryana News: सुल्तान की हार्ट अटैक से मौत

सुल्तान के वीर्य की भारी मांग थी।

मुर्रा नस्ल की भैंस के लिए सुल्तान (सुल्तान की हार्ट अटैक से मौत) के वीर्य की काफी मांग थी। हरियाणा के अलावा पूरे देश में उनकी मांग की गई। राजा के अनुसार उसका वीर्य प्रतिवर्ष लाखों रुपये कमाता था। सुल्तान साल में 30 हजार वीर्य की एक खुराक देता था, जिसकी कीमत 306 रुपये थी। जिससे वह लाखों रुपये कमा लेता था। हिसार के अनुसंधान केंद्र में आने वाले किसान भी उसके वीर्य की मांग करते थे, ताकि ऐसा सुल्तान दोबारा तैयार किया जा सके।

प्रधानमंत्री आवास योजना 2021 ऐसे करें आवेदन ऑनलाइन !

UPSC एग्जाम में हरियाणा की लड़कियों का दबदबा

Disha Parmar ने समुद्र किनारे बिकिनी में कहर ढाह रही हैं। ?

देश भर के पशु मेलों में सुल्तान का दबदबा था।

सुल्तान का दबदबा सिर्फ हरियाणा-पंजाब में ही नहीं बल्कि देश भर के पशु मेलों में था। वह जहां भी जाते थे, वहां से चैंपियन की उपाधि लेकर कैथल लौट जाते थे। उसकी सुंदरता का कोई विकल्प नहीं था। सुल्तान ने वर्ष 2013 में राष्ट्रीय पशु सौंदर्य प्रतियोगिता में हिसार, झज्जर और करनाल से राष्ट्रीय विजेता का खिताब भी जीता था, लेकिन भविष्य के पशु मेलों में उनकी कमी खलेगी।