Breaking News: अयोध्या में राम मंदिर के लिए 115 देशों से पहुंचा पानी

Breaking News: अयोध्या में राम मंदिर के लिए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने प्राप्त किया 115 देशों की नदियों का जल

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को कहा कि अयोध्या में राम-मंदिर निर्माण के लिए सात महाद्वीपों के 115 देशों से पानी लाने का विचार अद्वितीय है और वसुधैव कुटुम्बकम के संदेश को दर्शाता है। श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के महासचिव चंपत राय, डेनमार्क, फिजी और नाइजीरिया सहित कई देशों के राजदूतों और उच्चायुक्तों की मौजूदगी में सिंह ने अकबर रोड स्थित अपने आवास पर 115 देशों की नदियों, झरनों और समुद्रों से पानी ग्रहण किया।

 

 

भाजपा नेता और दिल्ली के पूर्व भाजपा विधायक विजय जॉली के नेतृत्व में एनजीओ दिल्ली स्टडी सर्कल ने पानी एकत्र किया। जॉली के प्रयासों की सराहना करते हुए सिंह ने कहा, “दुनिया के सभी देशों से पानी लाना वसुधैव कुटुम्बकम के भारत के दृष्टिकोण को दर्शाता है। 115 देशों से पानी लाना एक उत्कृष्ट कार्य है। मुझे उम्मीद है कि मंदिर निर्माण से पहले अन्य 77 देशों से भी पानी लाया जाएगा। इस जल से हम अपने राम लला का जलाभिषेक करेंगे।

Petrol Diesel Price: पेट्रोल-डीजल की कीमतों में हो सकती है, GST आने से भारी गिरावट

 

उन्होंने कहा कि राम मंदिर का निर्माण सभी के लिए गौरव का क्षण है। उन्होंने कहा, “भारतीय संस्कृति बहुत समृद्ध है और भारत में जाति, वर्ण और धर्म के आधार पर कोई भेदभाव नहीं है। इस मौके पर राय ने कहा कि दुनिया के कई देशों से पानी लाना ऐतिहासिक क्षण है. ऐसा माना जाता है कि त्रेता युग में भगवान राम के राज्याभिषेक के दौरान दुनिया के सभी महासागरों का पानी लाया गया था। और आज जब उनकी जन्मस्थली पर उनका मंदिर बन रहा है तो दुनिया के सारे समुद्रों का पानी एक बार फिर ला दिया है। यह हमारे लिए भावनात्मक मुद्दा है।