Battleground New PUBG to be banned before launch

Battleground: लॉन्च से पहले ही बैन हो जाएगा नया PUBG

 Battleground: लॉन्च से पहले ही बैन हो जाएगा नया PUBG, जाने पूरा मामला!

दुनिया का सबसे पॉपुलर मोबाइल गेम प्लेयर Battleground mobile  यानी PUBG 9 महीने बाद भारत में वापस लौट आया नए नियम नए अवतार नए नाम के साथ टाइटल है बैटलग्राउंड मोबाइल इस मॉडल गेम को बनाने वाली दक्षिण कोरियाई कंपनी ग्राफ्टिंग ने 6 मई को सोशल मीडिया पर भारत में वापसी का ऐलान किया 18 मई से प्री रजिस्ट्रेशन शुरू हो जाएगा!

इसे जून में ऑफिशल लॉन्च की संभावना है लेकिन लॉन्च से पहले इस पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं और भारत में इस गेम को बैन करने की मांग उठने लगी है दरअसल अरुणाचल प्रदेश के विधायक निनॉन्ग एरिंग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिख कर बैटलग्राउंड मोबाइल को इंडिया में बेन कराने की मांग की है!

उन्होंने अपने पत्र में लिखा है, यह गेम भारत की सुरक्षा के लिए यह खतरा हो सकता है और यह गेम लोगों की प्राइवेसी के लिए भी खतरा बन सकता है, विधायक निनॉन्ग इरिंग ने काहे की Battleground यानी PUBG में मामूली बदलाव करके इसे फिर से नए नाम से फेस कर रही है!

जो भारतीय कानूनों का उल्लंघन है उनके मुताबिक यह गेम हमारे लाखों यूजर्स का डाटा कलेक्ट करेगा, इसमें बच्चों का डाटा भी शामिल होगा इन डाटा को विदेशी कंपनियों और चीनी सरकार को ट्रांसफर किया जाएगा, उन्होंने यह भी आरोप लगाया है कि क्रॉप्टन और इंसर्ट कानून के खिलाफ जाकर गेम नए नाम से लॉन्च करने वाली है कैप्टन और इंसेंट के बीच डिप्लो तय है क्रॉप्टन ने NODWIN GAMING मैं इन्वेस्ट किया है NODWIN ओर इंसर्ट काफी क्लोज है!

गेम की यूआरएल में PUBG Mobile लिखा है इससे यह साफ हो जाता है कि यह गेम रीलॉन्च हो रहा है इससे पहले कांग्रेस पार्टी के नेता अभिषेक मनु सिंघवी गेम को बैन करने को लेकर पहले ही डिमांड कर चुके हैं आपको बता दें कि इंसर्ट या किसी भी कंपनी को ऐप या गेम लांच करने से पहले भारत सरकार की परमिशन लेने की जरूरत नहीं पड़ती बाद में अगर कानून के हिसाब से भारत सरकार बैन लगा देती है भारत मोबाइल गेमिंग की टॉप 5 पर देशों में से यह टॉप 3 की ओर तेजी से बढ़ रहा है!

Battleground की महत्वपूर्ण भूमिका रहने वाली है भारत का मोबाइल गेमिंग मार्केट 2025 तक 11,000 करोड़ पहुंचने की उम्मीद है, इसकी वजह स्मार्टफोन और इंटरनेट का बढ़ता और इस्तेमाल इससे गेमिंग को पॉपुलैरिटी मिल रही है!