5G Testing से फैल रहा कोरोना.. क्या 5G आने से बढ़ गया इंसानों पर खतरा

0
5G Testing से फैल रहा कोरोना.. क्या 5G आने से बढ़ गया इंसानों पर खतरा

5G Testing से फैल रहा कोरोना.. क्या 5G आने से बढ़ गया इंसानों पर खतरा!

यह कोरोना नहीं बल्कि यह 5G टावर टेस्टिंग की वजह से है, टावर से निकलने वाला रेडिएशन हवा में मिलकर हवा को जहरीला बना रहा है इसलिए लोगों को सांस लेने में दिक्कत हो रही है और लोग मर रहे हैं इसलिए 5G टावर टेस्टिंग को बंद करके देखिए सब ठीक हो जाएगा, ऐसा हम नहीं कह रहे हैं बल्कि सोशल मीडिया पर वायरल एक मैसेज/न्यूज़ पेपर की कटिंग की शक्ल में यह पोस्ट सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है 5G टेस्टिंग पर और भी मैसेज सोशल मीडिया पर खूब पोस्ट किए जा रहे हैं एक मैसेज में लिखा है 5G की टेस्टिंग बंद करें इंसानों को बचाओ!

5G Testing टेक्नोलॉजी क्या है जाने

5G को लेकर सोशल मीडिया पर तरह-तरह के दावे किए जा रहे हैं इन दावों में कितनी सच्चाई है, इससे पहले 5G टेक्नोलॉजी को समझना जरूरी है, 5G यानी fifth जेनरेशन टेक्नोलॉजी यह फास्ट मोबाइल बॉडबैंड नेटवर्क पर काम करेगा, 5G नेटवर्क 20Gbps से ज्यादा की स्पीड प्रदान करेगा.अभी 4G नेटवर्क 1Gbps की स्पीड देता है!

4G नेटवर्क के मुकाबले 5G नेटवर्क 20 गुना ज्यादा तेज रफ्तार से चलेगा, 5G आ जाने से आपको फास्ट इंटरनेट मिलेगा यानी आप बड़ी आसानी से वीडियो देख सकते हैं कुछ भी डाउनलोड करना किसी वेबसाइट को खोलना इंटरनेट से जुड़े दूसरे काम बड़ी तेज स्पीड के साथ कर सकते हैं लेकिन लेकिन एक बड़ा तबका है जो यह मान बेटा है कि 5जी की वजह से  5G की Testing की वजह से ही कोरोना हो रहा है और मांग हो रही है कि देश में 5G Testing रुकेगी तो ही लोग बच पाएंगे!

जो भी 5G सेल फोन का उपयोग करेगा उसको कैंसर जैसी घातक बीमारियां होगी, कुछ रिसर्च पेपर में यह भी कहा गया है कि 5G टावरों से निकली हाई रेडिएशन कैंसर, डीएनए, नर्वस सिस्टम से जुड़ी दिक्कतें हो सकती है,डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट के मुताबिक 5G और कोरोना का जो कनेक्शन बताया जा रहा है वह गलत है, ऐसे कई देश है जहां 5G टेस्टिंग की शुरुआत तक नहीं हुई है और वहां के लोग कोरोना महामारी से जूझ रहे हैं!

दुनिया भर से भी पक्षियों की मरने की खबर आती है,5जी को लेकर जो मैसेज वायरल हो रहे हैं उनमें भी 5G टेस्टिंग से पक्षियों मरने के दावे तो पक्षियों मरने की वजह केरेडिएशन है,पक्षियों की बात हो या इंसानों की जब टेक्नोलॉजी स्तर पर जाती है तो ऐसी आशंकाएं जुड़ जाती है, भारत में अब 5G और कोरोना का जोड़ दिया गया है!

वैज्ञानिक नजरिए से देखा जाए तो इन चीजों को निकारने के अलावा और कोई ऑप्शन नहीं है,कुल मिलाकर एक्सपर्ट 5G टेक्नोलॉजी और कोरोना संबंध को खारिज करता है 5G आ जाए तो हमारे लिए अच्छा हो सकता है!

 

Previous articleजयपुर आश्रम में 78 गांजे के पौधे उगाए गए, एक अरेस्ट
Next articleAnushka Sharma की हमशक्ल पाकिस्तानी एक्ट्रेस Aiman Salim के साथ तुलना
My name is Ashok Saini I am a blogger / news reporter I am working on a news website and I work to spread the news to the people

Leave a Reply