हरियाणा में माता पिता और बेटे ने फांसी लगाकर दी जान !

हरियाणा माता पिता और बेटे ने फांसी लगाकर दी जान (1)

हरियाणा में माता पिता और बेटे ने फांसी लगाकर दी जान, आत्महत्या करने से पहले फेसबुक पर वीडियो अपलोड कर बताया हम कातिल नहीं !

हरियाणा के जींद के नरवाना गांव के धनौरी गांव में एक घर में पिता, मां और बेटे के शव फंदे से लटके मिले. इस दिल दहला देने वाली घटना के बाद पूरे इलाके में सनसनी फैल गई। उधर, सूचना मिलते ही एसपी नरेंद्र बिजरानिया व एएसपी कुलदीप सिंह मौके पर पहुंचे और तीनों के शवों को फंदे से उतारकर पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल भेजा गया।

 

एसपी ने बताया कि मृतक के भतीजे नरेश पुत्र बलराज की शिकायत पर पुलिस ने इस मामले में जांच शुरू कर दी है. उन्होंने बताया कि मृतकों की पहचान 48 वर्षीय ओम प्रकाश, 45 वर्षीय कमलेश और उनके 20 वर्षीय बेटे सोनू के रूप में हुई है. एसपी ने बताया कि आत्महत्या करने से पहले तीनों ने एक सुसाइड नोट और वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया है, जिसके बाद पुलिस इस मामले में आगे की कार्रवाई करेगी।

हरियाणा: जीवनसाथी को शादी के 5 साल बाद प्रेमी के साथ मिलकर की हत्या।

मरने से पहले 48 वर्षीय ओमप्रकाश, उनकी 45 वर्षीय पत्नी कमलेश और 20 वर्षीय बेटे सोनू ने पुलिस पर कई सवाल खड़े किए हैं. इसके अलावा सुसाइड नोट में लिखा है कि मैं, मेरे माता-पिता कातिल नहीं हैं। न ही हम जानते हैं कि नन्हू को किसने मारा। वहीं परिजनों का कहना है कि गढ़ी थाने के प्रभारी पवन कुमार ने दूसरे धड़े के साथ मिलकर पीड़ित परिवार को झूठे मुकदमे में फंसाने के लिए इतना प्रताड़ित किया कि उससे छुटकारा पाना ही उचित समझा. तंग आकर अपनी जान दे कर पुलिस की बर्बरता

 

उल्लेखनीय है कि 21 नवंबर को मृतक के परिवार से मनीराम उर्फ ​​नन्हू नाम का व्यक्ति लापता हो गया था, जिसमें गढ़ी पुलिस ने गुमशुदगी का मामला दर्ज किया था. पुलिस जांच के दौरान 29 नवंबर को लापता हुए मनीराम उर्फ ​​नन्हू का शव बोरे में बंधा मिला था. जिसके बाद पुलिस ने मृतक मनीराम उर्फ ​​नन्हू के भाई ज्ञानी राम पुत्र बलबीर निवासी धनौरी की शिकायत पर अज्ञात के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर मामले में जांच शुरू कर दी है।