सरकार ने सोनू सूद से पंजाब ‘राज्य आइकॉन’ का सम्मान छीना।

सरकार ने सोनू सूद से पंजाब 'राज्य आइकॉन' का सम्मान छीना।

बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद से जुड़ी इस वक्त एक बड़ी खबर आ रही है इस खबर को सुनकर उनके फैंस का दिल टूट जाएगा कोरोना के मसीहा कहे जाने वाले सोनू सूद पर बड़ी कार्रवाई हुई है उन्हें पंजाब स्टेट आईकॉन के पद से हटा दिया गया है पिछले साल सोनू के नेक काम को देखते हुए इलेक्शन कमीशन ऑफ इंडिया ने उन्हें स्टेट आफ पंजाब के पद से सम्मानित किया था।

 

सरकार ने सोनू सूद से ‘राज्य आइकॉन’ सम्मान छीना

लेकिन अब इलेक्शन कमीशन ने सोनू से यह पद छीन लिया है इस लेकर बॉलीवुड में हलचल तेज हो गई है इसके पीछे की वजह है कि उसने अपनी बहन को राजनीति में उतार दिया है। पिछले दिनों सोनू सूद ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से लेकर पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी अकाली दल के प्रधान सुखबीर सिंह बादल से मुलाकात की थी माना जा रहा है कि सोनू सूद आप राजनीति के मैदान में उतर सकते हैं।

 

मंसूबों ने सोनू के उन कामों को बेनकाब कर दिया है जो उन्होंने कोरोना काल में किए थे कई लोगों का मानना है कि सोनू राजनीति में आना चाहते थे इसलिए उन्होंने लोगों की मदद की और वह लोगों की नजरों में हीरो बन गया आरोप तो यह भी लगे हैं कि जो लोग ट्विटर पर सोनू से मदद मांगते थे बाद में उनके अकाउंट ट्विटर से डिलीट हो जाते थे।

ये भी पढ़ें-

वहीं कई मीडिया वालों ने सोनू सूद से उन लोगों की लिस्ट मांगी थी जिनकी सोनू ने मदद की थी तब भी सोनू की टीम ने वह लिस्ट देने से साफ इनकार कर दिया था तब से मीडिया ने भी सोनू से दूरी बना ली फिलहाल तो सोनू से यह सामान छीना जाना बहुत बड़ा झटका है