महेंद्रगढ़ रोड में दर्दनाक हादसा पति पत्नी और बेटी की कार डूबने से मौत।

महेंद्रगढ़ रोड में दर्दनाक हादसा पति पत्नी और बेटी की कार डूबने से मौत।

महेंद्रगढ़  मार्ग पर गाय को बचाने के प्रयास में कार अनियंत्रित होकर नहर में जा गिरी, जिससे कार में सवार पति-पत्नी व उनके आठ वर्षीय बेटे की मौत हो गयी. जबकि 12 साल की बेटी पाइप के सहारे बाहर निकली. हादसे की सूचना मिलने के बाद चार विभागों, नहर विभाग, पुलिस, दमकल और सीआईए की टीमों ने 12 घंटे बाद शवों को नहर से बाहर निकाला।

रेवाड़ी जिले के रामगढ़ खेड़ी निवासी 35 वर्षीय प्रवीण अपनी 32 वर्षीय पत्नी ललिता, आठ साल के बेटे दिव्या और 12 साल की बेटी इशिका के साथ अपने घर में काम करने वाली एक लड़की की शादी में गया था. रविवार को ग्राम अगिहार में कोचिंग। रात के करीब 2 बजे जब वह घर लौट रहे थे तो अचानक गांव झगरौली के पास उनकी बैगन कार के सामने एक गाय आ गई

वैष्णो देवी से लौट रही एक्सप्रेस ट्रेन में लगी भीषण आग।

दो सिर वाला जन्मा बच्चा छोड़कर भागे माता-पिता डॉक्टर ने किया इलाज।

उसे बचाने के प्रयास में कार अनियंत्रित होकर नहर में जा गिरी। नहर की गाड़ी के गिरते ही प्रवीण ने शीशा तोड़कर पूरे परिवार को बचाने की कोशिश की. लेकिन अत्यधिक पानी के कारण वह अपने बेटे और पत्नी के साथ बह गया। कार से बाहर आने के बाद इशिका नहर में लगे पंप की मदद से बाहर निकली और महेंद्रगढ़-दादरी मार्ग पर आने-जाने वाले वाहनों को रोका और हादसे की जानकारी दी।