घर में जिंदा जला बुजुर्ग, डीजे चलता रहा और चीख निकलती रही।

घर में जिंदा जला बुजुर्ग

बांसवाड़ा। जिले के खमेरा क्षेत्र में गुरुवार की रात एक कच्चे मकान में लगी आग पर काबू पाने के प्रयास में बुजुर्ग को जिंदा जला दिया गया. घटना उसके अपने ही मनोरोगी बेटे की हरकतों के कारण हुई। गांववालों और पुलिस ने सिरे पर बांसवाड़ा से दमकल की मदद से आग बुझाई, तब तक बुढ़िया और उसका पूरा घर जल कर राख हो गया। पुलिस के मुताबिक घटना बिजोर गांव की 60 वर्षीय रश्मा अहारी के घर रात करीब 10.15 बजे हुई. इस बात की जानकारी सरपंच पति कमलाशंकर ने पुलिस को दी। घर में चारपाई और दीवार के बीच फंसी रश्मा की अधजली लाश को बाहर निकालकर बांसवाड़ा एमजी अस्पताल की मोर्चरी में भिजवाया गया।

 

डीजे के शोर में चीख-पुकार नहीं सुनाई दी, धुंआ देखकर भागे लोग

देर रात मृतक के बड़े बेटे बापूलाल अहारी ने घटना को लेकर पुलिस को रिपोर्ट दी. बताया गया कि वह शाम को समाज में नोट्रे के कार्यक्रम में गए थे। उनके पीछे माता-पिता और छोटे भाई गोविंद थे। रात में मां खाना बना रही थी। इसी बीच पिता बाहर खाना खा रहा था तो मां उसकी सेवा करने गई.

नए कोरोना वेरिएंट पर पीएम मोदी की इमरजेंसी मीटिंग, अलर्ट जारी

महेंद्रगढ़ रोड में दर्दनाक हादसा पति पत्नी और बेटी की कार डूबने से मौत।

तभी मनोरोगी भाई गोविंद ने अचानक चूल्हे से जलती हुई लकड़ी उठाकर फेंक दी. इससे घर के लाठियों में आग लग गई। सूखी लाठियों में आग देखकर सूचना पर माता-पिता चिल्लाने लगे, लेकिन गांव में नोटर होने के कारण डीजे बजने के कारण लोग इसकी आवाज नहीं सुन सके. तभी धुआं उठता देख लोग दौड़ पड़े

Previous articleनए कोरोना वेरिएंट पर पीएम मोदी की इमरजेंसी मीटिंग, अलर्ट जारी
Next articleUP ASI Clerk Admit Card: यूपी पुलिस ASI एडमिट कार्ड किया जारी।
My name is Ashok Saini I am a blogger / news reporter I am working on a news website and I work to spread the news to the people